अगर आप फोन का इस्तेमाल करते हैं तो आपने कभी ना कभी यह जरूर सोचा होगा कि मोबाइल फोन कैसे काम करता है अगर आपको यह जानने में रुचि है तो इस आर्टिकल के माध्यम से मैंने मोबाइल के बारे में जानकारी हिंदी में बताने की कोशिश की है जो आपको जरूर पता होना चाहिए। 

टेक्नोलॉजी के युग में हर इंसान के पास मोबाइल फोन होता ही है जिसका Use digital communication के लिए करते हैं, इसके कई सारे फीचर्स एंड फायदे होते हैं जिनके बारे में आपको पहले से ही पता है, मोबाइल ने लोगों को डिजिटल तरीके से एक दूसरे से जोड़ने का काम किया है इसके माध्यम से अपनी बातों को दूसरों तक पहुंचाना बहुत सरल हो गया है।

Mobile Phone की मदद से मीलों दूर बैठे व्यक्ति से बातें करना अब तो मामूली सी लगती है क्योंकि न सिर्फ बातें बल्कि एक ही स्थान से हम किसी भी राज्य और शहर के व्यक्ति से वीडियो कॉल भी कर सकते हैं इससे व्यक्ति उस तरह बातें कर सकता है जैसे किसी से रूबरू मिलकर बात कर रहा हो, अगर किसी को बैठे-बैठे इतनी सुविधाएं मिलती है तो उसके मन में यह सवाल आना लाजमी है कि यह मोबाइल टेक्नोलॉजी काम कैसे करता है? कैसे हम किसी से बिना मिले उन तक अपनी बातें पहुंचा सकते हैं? आदि। वैसे यह सब तो संभव हुआ है बढ़ती तकनीक की वजह से, लेकिन मोबाइल फोन के आविष्कार का श्रेय मार्टिन कूपर को जाता है क्योंकि इन्होंने ही फोन का आविष्कार किया था। लेकिन फोन बनाने की शुरुआत भी तभी हो पाई जब टेलीफोन बना, जानकारी के लिए बता दें कि एलेग्जेंडर ग्राहम बेल ने टेलीफोन का आविष्कार किया उसके बाद इसे पोर्टेबल आकार देते हुए फोन बनाया गया और अब हम फोन का स्मार्ट वर्जन जिसे स्मार्टफोन कहते हैं को यूज करते हैं। 

ये कुछ जानकारियां है मोबाइल से संबंधित, अब जानते हैं इस पोस्ट के मुख्य टॉपिक मोबाइल फोन कैसे काम करता है के बारे में। इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको आसान शब्दों में फोन काम कैसे करता है को समझाने का प्रयास किया है, फोन या स्मार्टफोन के कार्य जानने के लिए पोस्ट को अंत तक पढ़िए।

मोबाइल फोन कैसे काम करता है, पूरी जानकारी हिंदी में

जब मोबाइल नहीं थे तब उससे पहले टेलीफोन का उपयोग होता था जिसमें कनेक्शन के तौर पर एक टेलीफोन से दूसरे टेलीफोन तक वायर लगा होता था जिसके माध्यम से हमारी आवाज एक टेलीफोन से दूसरे टेलीफोन तक पहुंचता था, टेलीफोन का आविष्कार भी दूर स्थित किसी व्यक्ति से बात करने के लिए किया गया था इसलिए टेलीफोन कम्युनिकेशन के लिए लंबी लाइन बिछाई जाती है।

लेकिन अब ज्यादातर लोग मोबाइल फोन का उपयोग करने लगे हैं लेकिन बहुत कम ही लोगों को मोबाइल फोन कैसे काम करता है की जानकारी होती है, यहां पर मैंने इसी के बारे में बताया है।

Mobile Phone कैसे काम करता है | How Mobile Phone Works?

मान लीजिए आप अहमदाबाद में हो और आपका एक दोस्त मुंबई में है, अब अगर आप अपने मोबाइल से मुंबई में स्थित दोस्त को कॉल करेंगे तो फोन का सिग्नल इतनी लंबी दूरी तय नहीं कर पाएगा इसलिए गांव और शहरों में अलग-अलग जगहों पर मोबाइल टावर लगाए जाते हैं जो आपके फोन से निकलने वाले सिग्नल को दूसरे फोन तक आसानी से पहुंचाने का काम करते हैं आइए इसे विस्तार से समझते हैं -

मान लीजिए आपके पास एक मोबाइल या स्मार्टफोन है जिसमें आपके दोस्त का फोन नंबर सेव है, अब जब आप अपने दोस्त को कॉल करते हैं तब आपके फोन में एक माइक्रोफोन (mic) होता है वह काम करने लगता है, इससे होता यह है कि आप जो भी बातें अपने दोस्त को बोलते हैं वह इस माइक्रोफोन के जरिए डिजिटल रूप में कन्वर्ट होता जाता है या कह सकते है 0 और 1 के रूप में कन्वर्ट हो जाता है।

जब आपकी आवाज डिजिटल रूप (digital form) में कन्वर्ट हो जाता है उसके बाद आपके फोन में एक एंटीना (antenna) भी लगा होता है जो डिजिटल रूप में परिवर्तित आपकी वॉइस को फिर से इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेव (electromagnetic wave) में कन्वर्ट कर देता है, इसे हिंदी में विद्युत चुम्बकीय तरंग कहते हैं। इसे वायु संचार माध्यम भी कह सकते हैं।

अब आपकी वॉइस इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेव के रूप में मोबाइल टावर तक पहुंचता है उसके बाद टावर से जिस व्यक्ति के पास आपने कॉल लगाया है उसके मोबाइल में पहुंचता है और आपकी वॉइस फिर से digital form में convert हो जाता है उसके बाद phone में मौजूद speaker के जरिए आपकी बात आपके दोस्त तक digitally पहुंच जाता है। 

इस तरह से आप फोन पर बातचीत कर पाते हैं यहां पर मैंने जितने भी मोबाइल कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी दी है यह बहुत ही फास्ट होता है इसलिए जब आप किसी को कॉल करते हैं तब कुछ सेकंड में ही व्यक्ति आपका फोन रिसीव कर लेता है हालांकि इसके पीछे ये सारी प्रक्रिया होती है। 

अब आपको यह समझ में आ गया होगा कि मोबाइल फोन काम कैसे करता है? लेकिन यदि इसे और डिटेल में जानना है तो आपको mobile tower के कार्य को समझना होगा।

Mobile Tower कैसे काम करता है | How Mobile Tower Works?


Mobile Tower कैसे काम करता है | How Mobile Tower Works?

आपके area में भी एक स्थान पर मोबाइल टावर लगा होगा अधिकतर phone user's को How Mobile Tower Works? (फोन टॉवर काम कैसे करता है?) यह मालूम नहीं होता, पर phone user's को इसकी जानकारी होनी चाहिए।

मोबाइल टॉवर का कार्य | Mobile Tower Work in Hindi


दुनिया में अलग-अलग village तथा town में, अलग-अलग operators के tower लगे होते हैं जिनका कार्य signals को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचना है, यह मोबाइल से निकलने वाले signals को दूर स्थित दूसरे मोबाइल में सरलता से पहुंचाने में मदद करता है।

जानिए टॉवर सिग्नल को दूसरे मोबाइल तक कैसे पहुंचाता है? 


दरअसल mobile tower अलग-अलग mobile tower से जुड़े हुए होते हैं और सभी एरिया में स्थित टॉवर उस एरिया में मौजूद Mobile Switching Centre (MSC) से जुड़े होते हैं। 
मोबाइल स्विचिंग सेंटर यानि MSC के पास आपकी पूरी जानकारी होती है जैसे आपने SIM Card चालू करने के लिए कौन सा डॉक्यूमेंट (ID proof) सबमिट किया था, आपने कब किसे कॉल लगाया, लास्ट कॉल आदि डिटेल्स MSC में रहता है।

इसलिए जब आप किसी को कॉल करते हैं तो आपके एरिया में स्थित टावर के पास आपके फोन का सिग्नल पहुंचता है उसके बाद टावर उसे डायरेक्ट दूसरे फोन में पहुंचाने से पहले Mobile Switching Centre में पहुंचाता है और जैसा कि मैंने आपको बताया की मोबाइल स्विचिंग सेंटर के पास आपकी डिटेल्स होती है तो वह पता लगा लेता है की आपने किस व्यक्ति को कॉल किया है। 
अब MSC यह पता लगाता है की आपने जिस व्यक्ति को कॉल किया है वह कौन से टॉवर पर अभी है, जैसे ही यह पता चलता है आपके फोन के सिग्नल को उस टॉवर तक पहुंचा दिया जाता है उसके बाद टॉवर उस सिग्नल को उस व्यक्ति के फोन में पहुंचता है।

सिग्नल जैसे ही उस व्यक्ति के फोन पर पहुंचता है उसके Phone में Ringtone बजने लगता है, Call Receive करने के लिए उस व्यक्ति द्वारा green button press किया जाता है उसके बाद दोनों फोन आपस में कनेक्ट हो जाता है, अब फोन पर बातचीत कर सकते हैं, बातचीत के दौरान भी सिग्नल का आदान-प्रदान होता रहता है।

FAQ's

Q1 - दुनिया में मोबाइल फोन से पहली कॉल कब की गई?
Ans. मार्टिन कूपर ने 3 अप्रैल 1973 को दुनिया में पहली बार मोबाइल से कॉल किया था।

Q2 - दुनिया का सबसे पहला फोन कौन सा था?
Ans. साल 1983 में मोटरोला कंपनी ने आम लोगों के लिए पहली बार मोबाइल लांच किया जिसका नाम "Motorola DynaTAC 8000X" था।

Q3 - भारत में मोबाइल फोन से पहली कॉल कब की गई थी?
Ans. भारत में पहली कॉल 13 जुलाई 1995 को की गई थी।

अन्य लेख -  

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने