देश और दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की छोटी बड़ी खबरें हर सुबह समाचार पत्रों के माध्यम से लोगों तक पहुंच जाते हैं, समाचार पत्र का प्रकाशन पहले से ही होता आ रहा है इसके माध्यम से व्यक्ति को घर बैठे प्रमुख खबरों का पता चल पाता है।

न्यूज पेपर खबरों को अन्य लोगों तक पहुंचाने के लिए एक बेहतर संचार माध्यम है इसके जरिए समाचार का पता तो चलता ही है साथ ही व्यक्ति का ज्ञान भी बढ़ता है पढ़ने में तीव्रता, आसपास के क्षेत्र के बारे में जानकारी और बिजनेस या नौकरी से संबंधित विज्ञापनों के बारे में जानना यह samachar patra की मदद से सरल हो गया है।

समाचार पत्र क्या होते हैं?

समाचार पत्रिका या न्यूज़ पेपर जिसमें देश-विदेश और दुनिया भर की खबरों पर प्रकाश डाला जाता है इसे व्यक्ति अपने घर पर मंगवा सकता है और हर रोज सुबह सुबह उसे समाचार पत्र प्राप्त हो जाता है और दुनिया में घटित घटना से वाकिफ हो पाता है समाचार पत्र में राजनीति, क्रिकेट, टीवी सीरियल, फिल्में, दिलचस्प कहानियां, राशि भविष्य, ज्ञान की बातें, विकास और बढ़ती तकनीक से संबंधित बेहतरीन लेख पढ़ने को मिलते हैं। उम्मीद है आपको समाचार पत्र के विषय में जानकारी प्राप्त हो गई होगी।

Samachar Patra Essay in Hindi | समाचार पत्र पर निबंध हिंदी में 


Samachar Patra Essay in Hindi | समाचार पत्र निबंध हिंदी में
Essay on Newspaper in Hindi

प्रस्तावना

आज भले ही तकनीक बहुत अधिक विकसित हो गई हो लेकिन समाचार पत्र का आज के वर्तमान युग में भी एक अहम भूमिका रही है, छोटे बच्चे, स्टूडेंट, देश के नौजवान या बुजुर्ग सभी उम्र के लोग न्यूज पेपर पढ़ते हैं और ताजा खबरों से जुड़े रहते हैं। बढ़ती तकनीकी की वजह से आज समाचार पत्रों को ऑनलाइन पढ़ा जाता है मतलब सभी प्रसिद्ध न्यूज़ पेपर का डिजिटल एडिशन भी उपलब्ध है जिसे इनके ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर पढ़ सकते हैं। आधुनिक युग में संचार के एक से एक माध्यम है जिनमें समाचार पत्रों का भी सर्वश्रेष्ठ स्थान है।

समाचार पत्रों में लेख का विषय

देश के राज्य, जिला, तहसील और क्षेत्र के अनुसार वहां की खबरें समाचार पत्रों में छपी होती है जिससे पढ़को को अपने क्षेत्र की जानकारी प्राप्त करने में अधिक रूचि होती है इसके अलावा देश भर की तमाम खबरें जो वर्तमान में ट्रेंडिंग पर है छापा जाता है।

News के अलावा अन्य विषयों पर लेख प्रकाशित की जाती है जिनमें एंटरटेनमेंट, फ़िल्में और टीवी सीरियल संबंधित खबरें जिसे लोगों द्वारा खूब पसंद किया जाता है, रेसिपी की जानकारी, राशि भविष्य, बिजनेस और जॉब संबधी इंफॉर्मेशन जिससे पाठकों की मदद हो सके, इनके अतिरिक्त रोचक कहानियों के बारे में प्रकाशन किया जाता है। किसी खास मौके पर जैसे दीपावली, होली, दशहरा, क्रिसमस आदि त्यौहार में इन त्योहारों से संबंधित मान्यताओं पर लेख पढ़ने को मिलता है।

समाचार पत्र के लाभ 

हर उम्र के व्यक्ति को समाचार पत्र पढ़ना चाहिए इससे उनकी पढ़ने की क्षमता अच्छी होती है ज्ञान बढ़ता है, आसपास की घटनाओं का पता चलता है, व्यक्ति जागरूक होता है और अन्य मित्रों को जागरूक होने के लिए प्रेरित करता है।

समाचार पत्र पर छापी जाने वाली जानकारियां सच्ची होती है जिसकी वजह से समाज में फैल रही अफवाहों के पीछे का सच का पता चलता है।

कोई व्यापारी अपनी दुकान या अपने व्यवसाय के बारे में न्यूज़पेपर पर विज्ञापन छपवा सकता है जिससे उसके व्यापार के बारे में अधिक लोगों तक सूचना पहुंच जाती है और व्यापारी को फायदा होता है।

फिल्मी टीवी सीरियल और इंटरटेनमेंट से जुड़ी रोचक लेख पढ़ने में रुचि रखने वाले पाठकों के लिए समाचार पत्र पर उनके पसंदीदा कलाकार के बारे में इंटरव्यू छापी जाती है जिससे टीवी इंडस्ट्री के बारे में लोगों को जानकारी मिलती हैं।

समाचार पत्रों का उद्देश्य

समाचार पत्र या अखबारों का मुख्य उद्देश्य लोगों तक सही जानकारी पहुंचाना और उन्हें जागरूक करना है, हर उन अफवाहों का पर्दाफाश करना जिनकी वजह से समाज पर बुरा प्रभाव पड़ता है, samachar Patra पर प्रिंट की जाने वाली बातें निष्पक्ष ढंग से लिखी जाती है जिसमें लेखक सत्य के साथ खड़ा होकर लेख लिखता है या रिपोर्टिंग करता है।

समाचार पत्र का इतिहास (संक्षिप्त में)

अखबारों का इतिहास बहुत पुराना है क्योंकि सदियों से प्रकाशन का कार्य किया जा रहा है गांधीजी के जीवन काल में भी उन्होंने खुद न्यूज़पेपर और पत्रिकाएं प्रकाशित की थी।

भारत में प्रकाशित की गई प्रथम समाचार पत्र का नाम 'द बंगाल गेजेट' था जिसे जेम्स ओगस्टस हीकी (James Hicky) ने सन् 1780 में प्रकाशित किया था। इसे The Original Calcutta General Advertiser के नाम से भी जाना जाता था, इस अखबार को अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित किया जाता था तथा सप्ताहिक पत्रिका होने के कारण 7 दिन में एक बार प्रकाशित किया जाता था।

इस पत्रिका के पश्चात भारत में अन्य अलग-अलग नाम से समाचार पत्र की शुरुआत होने लगी, बात करें वर्तमान समय में प्रमुख समाचार पत्रों की तो इनमें प्रभात खबर, अमर उजाला, दैनिक जागरण, जनसत्ता, पंजाब केसरी, दैनिक भास्कर, हरिभूमि, राजस्थान पत्रिका आदि न्यूज पेपर शामिल हैं।

आधुनिक युग में डिजिटल समाचार पत्र या ई-पेपर

Technology तेजी से विकसित होती जा रही है और अब वर्तमान में अधिकतर लोगों के पास खुद का स्मार्टफोन मौजूद है इसलिए अब पत्रिका प्रकाशन के साथ इनका डिजिटल एडिशन भी प्रकाशित किया जाता है जिससे कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस के जरिए इनके ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर पढ़ा जा सकता है, डिजिटल समाचार पत्र को ई - न्यूज़पेपर (e-paper) भी कहा जाता है इसके फायदे यह होते हैं कि लेखक उसी लेख को भविष्य में आने वाले बदलाव के अनुसार दोबारा बदलकर अपडेट कर सकता है। Digital epaper पाठकों के लिए भी एक आसान विकल्प बन गया है क्योंकि इसे कभी भी और कहीं भी पढ़ा जा सकता है और एक बड़ा फायदा यह है कि किसी समाचार को अन्य लोगों के साथ आसानी से एप्लीकेशन के जरिए साझा किया जा सकता है ताकि उन्हें भी जरूरी जानकारी प्राप्त हो सके।

अन्य लेख 


Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने