विद्यालय जिसे ज्ञान का मंदिर भी कहा जाता है इसी में पढ़ लिखकर लोग महान व्यक्ति बन पाते हैं, आज के इस लेख में आपको बताया गया है Mera vidyalaya nibandh in Hindi - विद्यालय पर निबंध. आशा करते हैं आपको यह लेख पसंद आए।

Mera vidyalaya nibandh in Hindi - मेरा विद्यालय पर निबंध

Mera vidyalaya nibandh in Hindi
Mera vidyalaya nibandh in Hindi

प्रस्तावना 

विद्यालय या स्कूल जहां पर सभी छात्र छात्रा हर दिन कुछ ना कुछ नया सीखते हैं बच्चों में ज्ञान का विकास विद्यालय में ही होता है बचपन से किशोरावस्था तक vidyalay हमें नई चीजों को जानने तथा एक नए भविष्य का निर्माण करने की शिक्षा प्रदान करती है।

Mera vidyalaya का परिचय 

मेरे विद्यालय का नाम शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ... है, जहां पर मैं रोज cycle चलाकर पढ़ाई करने जाता हूं, स्कूल लगने का  समय सुबह 10:00 बजे से 4 बजे तक होता है। Vidyalay काफी बड़ा है और उसमें लगभग 1000 students पढ़ने जाते हैं। स्कूल में कक्षा 9 वीं से 12 तक क्लास है।

मेरे विद्यालय की सुविधाएँ 

विद्यालय में कई सुविधाएं हैं जैसे खेलने के लिए बड़ा मैदान, शौचालय, पानी की सुविधा, बिजली की सुविधा और बच्चों के लिए पर्याप्त डेस्क, टेबल्स उपलब्ध हैं खाना खाने के लिए कैंटीन की व्यवस्था भी है।
स्कूल में पढ़ाई से संबंधित सुविधाएं भी उपलब्ध है जैसे जीव विज्ञान, फिजिक्स, और रसायन सब्जेक्ट के लिए प्रयोगशाला जिसमें आवश्यक सामग्री होते हैं प्रैक्टिकल करने के लिए साथ ही कंप्यूटर क्लास जहां पर बच्चों को कंप्यूटर सिखाया जाता है।

Vidyalay में मनाई जाने वाली उत्सव

विद्यालय में शिक्षक और छात्र / छात्रा हर्षोल्लास के साथ सभी उत्सव मानते हैं, 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है इनके अलावा शिक्षक दिवस, वार्षिक महोत्सव, सीनियर कक्षा के छात्रों के लिए विदाई समारोह का आयोजन और साथ ही स्टूडेंट्स का बर्थडे भी सेलिब्रेट किया जाता है।

मेरे विद्यालय में पढ़ाई 

मैं ग्यारहवीं साइंस का विद्यार्थी हूं इसलिए हमें मुख्य रूप से पांच विषय पढ़ाई जाती है हिन्दी, इंग्लिश, केमेस्ट्री, फिजीक्स और जीव विज्ञान, सभी विषयों के लिए 40-40 मिनट बांटा गया होता है जिसमें टीचर्स पढ़ाते हैं। मुख्य विषयों के लिए अनुभवी शिक्षक हैं इसलिए कॉन्सेप्ट समझने में आसानी होती है।

Vidyalay में खेल महोत्सव और टूर्नामेंट 

वैसे हर दिन स्कूल छुट्टी होने से पहले खेल के समय में फुटबॉल, क्रिकेट आदि खेले जाते हैं क्योंकि पढ़ाई के साथ फिजिकल एक्टिविटी भी जरूरी होता है लेकिन स्कूल में बीच बीच में टूर्नामेंट का आयोजन भी किया जाता है तथा जीत हासिल करने पर पुरस्कार दिया जाता है।

उपसंहार 

Vidyalay इंसान को भविष्य में आने वाली चुनौतियों के लिए तैयार करता है विद्यालय जाकर व्यक्ति अपने बेहतर भविष्य का निर्माण करता है, दुनिया में जितने भी बड़े और महान व्यक्ति उन्होंने भी विद्यालय में पढ़ाई करी है, विद्यालय पर सिखाए जाने वाले शिक्षा इंसान को जीवन जीने का सही तरीका सिखाता है।

Final Word

उम्मीद करता हूं आपको Mera vidyalaya nibandh in Hindi - मेरे विद्यालय पर निबंध अच्छा लगा हो, यहां लिखी गई Nibandh से आप आईडिया लेे सकते हैं कि Vidyalay पर निबंध कैसे लिखा जाता है, यदि आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे अपने स्टूडेंट दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

Related Articles in Hindi

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने