निबंध आपने भी जरूर लिखा होगा स्कूल के परीक्षाओं में भी निबंध लिखने का प्रश्न आता है जिसमें दिए गए विषय पर एक निबंध लिखना होता है, दोस्तों आज के इस लेख में हम Nibandh Kya Hai - निबंध क्या होता है हिंदी में जानेंगे, इसके अलावा निबंध के संबंध में आवश्यक जानकारी जिनके बारे में आपको जरूर पता होना चाहिए, आइए शुरू करते हैं।

Nibandh Kya Hai - निबंध क्या होता है?

Nibandh Kya Hai - जानिए निबंध क्या होता है हिंदी में
Nibandh Kya Hai in Hindi

निबंध दो शब्दों से मिलकर बना है नि + बंध जिसका अर्थ होता है अच्छी तरह से बंधी हुई रचना अर्थात लेखक द्वारा विचार पूर्वक लिखी गई लेख।

परिभाषा:- निबंध गद्य या रचना लिखने का एक तरीका है जिसमें निबंधकार अपने विचारों को शब्दों के रूप में व्यक्त करता है, निबंध लेखन के दौरान सभी बातों को प्रभावपूर्ण ढंग से लिखा जाता है। निबंध लेखन के लिए किसी विषय का अच्छा ज्ञान होना आवश्यक होता है।


निबंध के अंग - निबंध के मुख्यतः कितने अंग होते हैं?

मुख्य रूप से निबंध के तीन अंग होते हैं जो इस प्रकार हैं -


1. भूमिका

निबंध के शुरुआती पैराग्राफ में लिखी जाने वाली लेख को निबंध - भूमिका कहते हैं, इसमें निबंध के विषय के बारे में जानकारी दी जाती है लगभग हर आवश्यक बातें संक्षिप्त में, जिससे यह स्पष्ट हो जाए की लेख किस विषय पर है, इसमें लेख प्रभावशाली होनी चाहिए ताकि पढ़ने वाले को उसमें रुचि लगे और लेख पूरा पढ़े।

2. विस्तार 

इसमें निबंध को विस्तारपूर्वक समझाया जाता है, विषय से संबंधित लेखक के मन में उत्पन्न हर बातों को इसमें लिखा जाता है। अलग अलग पैराग्राफ में निबंध संबंधी हेडिंग - टॉपिक देकर लेख प्रारंभ होता है। इसमें लिखे जाने वाले अनुच्छेदों में आकर्षक व रोचक शब्दों का प्रयोग किया जाता है। इसमें लेख को उबाऊ होने से बचाने के लिए थोड़े संक्षिप्त रूप में लगभग हर बातों पर प्रकाश डाला जाता है इससे पाठक को पढ़ने में रुचि आता है।

3. उपसंहार

इसे निबंध के अंतिम पैराग्राफ में लिखा जाता है जिसमें लिखे गए निबंध के बारे में जानकारी दी जाती है साथ ही निष्कर्ष के रूप में कुछ प्रेरणादायक बातें भी बताई जाती है, जैसे प्रदूषण पर निबंध लिखने पर उपसंहार में प्रदूषण नियंत्रण के कुछ तरीको के बारे में बताया जा सकता है।

निबंध के प्रकार - निबंध कितने प्रकार के होते हैं?

निबंध के मुच्य तीन प्रकार होते हैं जो इस प्रकार हैं -

1. वर्णनात्मक 

किसी प्रकार का खेल जैसे क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल, बैडमिंटन आदि, कोई घटित घटना या त्यौहार जैसे दीपावली, होली, दशहरा, क्रिसमस आदि के संबंध में लिखे जाने तक वाले निबंध को वर्णनात्मक निबंध कहेंगे। वर्णनात्मक निबंध में लेखक अपनी विषय की पूर्ण व्याख्या करता है।

2. विवरणात्मक

व्यास शैली में लिखे जाने वाले निबंध विवरणात्मक कहलाते हैं इस प्रकार के निबंध में निबंधकार अपने अनुभव और विचारों को सामने प्रकट करता है, इस तरह के लेख में अधिकतर किसी महापुरुष की जीवनी, लेखक जीवनी, प्राचीन कथा, हमारे इतिहास से जुड़ी बातों पर अमल किया जाता है।

3. भावात्मक

विचार में उत्पन्न किसी भाव पर लिखी गई निबंध को भावात्मक निबंध कहते हैं इसमें लेखक अपने किसी भी विषय पर अपने मन से लेख लिखता है इस तरह के लेख छोटे या बड़े हो सकते हैं।

निबंध के सभी प्रकार एक दूसरे से मेल खाते हैं इनमें बारीक सा फर्क होता है जो आपको पता होनी चाहिए।

निबंध लिखने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें 

1. विषय का ज्ञान और अनुभव


निबंध लेखन में किसी भी विषय के बारे में अनुभव होना आवश्यक होता है यदि आपको किसी चीज के बारे में अनुभव नहीं है तो उस विषय पर श्रेष्ठ निबंध नहीं लिखा जा सकता। मान लीजिए आपको किसी ऐसे स्थान के बारे में निबंध तैयार करना है जिसके बारे में आपको खास जानकारी मालूम नहीं है अब ऐसे में जब निबंध लिखेंगे तो निबंध खाली खाली सा लगेगा। वही किसी विषय पर पूर्ण ज्ञान के साथ निबंध शुरू करने से उसमें बहुत सी जानकारी दी जा सकती है।

2. निबंध की रूपरेखा


आप जिस भी विषय पर निबंध लिखना चाहते हैं उसके लिए पहले रूपरेखा तैयार करिए, निबंध में रूपरेखा का अर्थ है कि आप जो लेख लिखने वाले हैं उनमें आने वाले महत्वपूर्ण पॉइंट्स को नोट कर लें, आपका निबंध कैसा होगा, निबंध के ऊपर या नीचे पैराग्राफ में कौन सी बातें होनी चाहिए, इन सभी को सुनिश्चित कर लीजिए।

3. अपनी विषय का अध्ययन


आप जिस विषय पर निबंध लिखना चाहते हैं उससे संबंधित पहले से लिखित सर्वश्रेष्ठ निबंधों का अनुसरण (पढ़ें) करें इससे आपके मस्तिष्क में उस विषय के संबंध में नई-नई विचार उत्पन्न होंगी जो एक बेहतर निबंध लिखने में आपकी मदद कर सकती है।

4. निबंध के बारे में चर्चा


निबंध लिखने के पूर्व किसी विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आप अपने दोस्तों या घरवालों के साथ उस विषय पर चर्चा कर सकते हैं उनसे आपको बहुत कुछ सीखने को मिल सकता है जो निबंध को और बेहतर रूप दे सकता है।

5. निबंध की लंबाई


यदि आप अपने निबंध को मजेदार प्रभावशाली आकर्षित और रोचक बनाना चाहते हैं जिसे व्यक्ति पूरा पढ़ना चाहे तो इसके लिए आपको निबंध की लंबाई पर ध्यान देना होगा यदि निबंध आवश्यकता से अधिक लंबा हो तो पाठकों को उसमें अधिक रुचि नहीं होगी इसके विपरित यदि आप संछिप्त तरीके से कम शब्दों में अपने संपूर्ण बातों को निबंध में लिखेंगे तो पढ़ने वाला व्यक्ति उबाऊ महसूस नहीं करेगा और पूरी संभावना होगी की वह निबंध पूरा पढ़े लेकिन इसके लिए निबंध दिलचस्प होनी चाहिए।

Final Words - Nibandh Kya Hai in Hindi के बारे में

दोस्तों इस लेख के माध्यम से आपने जाना की Nibandh Kya Hai, उम्मीद है आपको यह लेख आपको पसंद आया हो, इस लेख पर अपनी सुझाव और किसी भी प्रकार की सवाल के लिए Comment जरूर करें।

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने