दोस्तों आपने केवाईसी के बारे में जरूर सुना होगा और अगर आपने कोई बैंक अकाउंट ओपन किया है तो आपने भी अपने खाते का कभी न कभी KYC जरूर कराया होगा लेकिन क्या आपको पता है कि KYC क्या है और इसका Full Form क्या है?, केवाईसी क्यों जरूरी है, किस लिए बैंक हमारे बैंक अकाउंट का केवाईसी करता है? अगर आपको इसके बारे में पता नहीं है तो इस पोस्ट में हमने Detail में जानकारी दी है जिससे आपको केवाईसी क्या है और इसका पूरा नाम क्या है के अलावा और अन्य  जानकारियाँ प्राप्त हो सके। 

KYC क्या है और इसका Full Form क्या है? 


KYC क्या है और इसका Full Form क्या है?
KYC क्या है और इसका Full Form क्या है? 

KYC एक प्रक्रिया है जिसकी मदद से Bank या कोई Company अपने Costomer की पहचान करता है, केवाईसी के माध्यम से बैंक अपने कस्टमर से कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट सबमिट करने को कहती है ताकि उस डॉक्यूमेंट से बैंक अपने कस्टमर की पहचान प्राप्त या सत्यापित कर सकें, KYC का Full Form “Know Your Customer” है जिसका हिंदी में अर्थ ‘अपने ग्राहक को पहचानना’ होता है। 

केवाईसी क्यों जरूरी है? 


KYC Process के माध्यम से यह Conform किया जाता है की किसी भी बैंक के ग्राहक उनके सर्विस का गलत उपयोग तो नहीं कर रहा है, जब बैंक के ग्राहक अपने बैंक को KYC Complete करने के लिए Importaint Document (पहचान पत्र) देते हैं तो बैंक को यह पता चल जाता है कि उनके द्वारा दिए गए सभी जानकारी जैसे Name, Address, Age Etc. बिल्कुल सही है. जब आप अपने बैंक अकाउंट का केवाईसी कराते हैं उसके बाद भी बैंक आपको बीच-बीच में केवाईसी अपडेट करने के लिए कहता है, ग्राहकों की पहचान करने के लिए KYC बहुत जरूरी होता है यह ना केवल Bank बल्कि किसी भी प्रकार के Banking Related Mobile Apps जैसे Paytm, Phonepe, Google Pay, Amazon Pay आदि Mobile Apps में भी आपको KYC Complete करने की आवश्यकता होती है। 

KYC करने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट क्या है? 


जैसा कि मैंने आपको बताया कि KYC के माध्यम से बैंक आपकी पहचान करता है इसलिए आपको केवाईसी कराने के लिए कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होती है जिसमें आपका Identity,  Address,  Exact Name, होना चाहिए आपको अपना पहचान और पता का प्रूफ देना होता है ताकि बैंक कंफर्म कर पाए कि आपका सही पता और पहचान क्या है, 


अपनी पहचान सत्यापित (Identity verify) करने के लिए आप Aadhar card, Driving licence या PAN card का उपयोग कर सकते हैं, जब आप पहचान सत्यापित करने के लिए आधार कार्ड का उपयोग करते हैं तो उसमें कार्ड के आगे और पीछे आपका नाम और एड्रेस दोनों होता है जिसकी मदद से आपका एड्रेस भी सत्यापित हो जाता है लेकिन अगर आप PAN Card का Use करते हैं तो उसमें आपका Address का विवरण नहीं होता है इसलिए आपको एक ऐसे डॉक्यूमेंट की जरूरत होगी जिसमें आपका एड्रेस भी हो जिसकी मदद से बैंक पते को सत्यापित कर सकें, अपना पता सत्यापित करने के लिए आप उपभोक्ता बिल, बिजली बिल, पासपोर्ट, राशन कार्ड या बैंक अकाउंट स्टेटमेंट का उपयोग कर सकते हैं अकाउंट का स्टेटमेंट आप अपने बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं या बैंक आपको हर महीने का स्टेटमेंट ईमेल के माध्यम से आपके फोन पर भेजती है उसका use भी आप कर सकते हैं।

ई-केवाईसी क्या है? (What is E-KYC in Hindi)


आपको यह तो पता चल गया कि KYC क्या है और इसका Full Form क्या है?, केवाईसी क्यों जरूरी होता है अब जानते हैं E-KYC के बारे में, इसका फुल फॉर्म होता है “Electronic Know Your Customer” (इलेक्ट्रॉनिक नो योर कस्टमर) इसका हिंदी में मतलब अपने कस्टमर को इलेक्ट्रॉनिक तरीके से पहचानो, जिस तरह आप Bank account KYC कराने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट सबमिट करते हैं उसी प्रकार ई-केवाईसी में भी आपको अपने आवश्यक डॉक्यूमेंट सबमिट करने होते हैं लेकिन इसमें सभी कार्य डिजिटल तरीके से होते हैं यानी आप जो भी दस्तावेज सबमिट करेंगे वह ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक तरीके से होगा, यह केवाईसी का डिजिटल रूप है।


Read Also:


पोस्ट के बारे में (KYC क्या है और इसका Full Form क्या है)

इस पोस्ट में मैंने आपको KYC क्या है और इसका Full Form क्या है?, ई-केवाईसी क्या है?, KYC करने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट क्या है?, और KYC क्यों जरूरी होता है इसके बारे में बताया है अगर यह पोस्ट आपके लिए हेल्पफुल है और आपने कुछ सीखा है तो इसे अपने फ्रेंड्स के साथ भी शेयर करिये, इसी प्रकार की पोस्ट पढ़ने के लिए स्क्रीन पर दिख रहे Bell आइकॉन पर क्लिक करके हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब कर सकते हैं। 

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने